संदेश

सितंबर, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास | International Translator Day

चित्र
General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास दोस्तो मेरे बलॉग के इस स्कंध में आप पाएँगे सामान्य ज्ञान ,General Knowledge उन दिनों के बारे में जो आप मनाते हैं ,Day's Observance  उन दिनों के बारे में जिन्हें पूरा विश्व मनाता है | जाने आज के दिन का इतिहास | अंतर्राष्ट्रीय अनुवादक दिवस  इस दिवस को 1953 में लॉन्च किया गया था और इसे इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ ट्रांसलेटर्स द्वारा बढ़ावा दिया गया था। यह दिन सेंट जेरोम के पर्व पर मनाया जाता है, जिन्होंने बाइबिल का अनुवाद किया और उन्हें अनुवादकों का संरक्षक संत भी माना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय अनुवादक दिवस 30 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस घोषित करने का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 24 मई, 2017 को पारित किया गया था। अंतर्राष्ट्रीय अनुवादक दिवस इस दिन को राष्ट्रों को जोड़ने में अनुवादकों की भूमिका को पहचानने के लिए मनाया जाता है। वैश्वीकरण और अंतर्राष्ट्रीय यात्रा में बढ़ते अवसरों के कारण अनुवादकों का काम महत्वपूर्ण देखा जाता है और इसलिए इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय अनुवादक दिवस के रूप में मनाया जाता है। International

General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास |मुहर्रम क्यों मनाई जाती है

चित्र
General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास | मुहर्रम क्यों मनाई जाती है दोस्तों आज हम जानने बाले हैं कि मुहर्रम क्यों मनाई जाती है ! आप में से बहुत से लोग नहीं जानते होंगे तो आज मैं आप को बताने जा रहा हूँ !    मुहर्रम क्यों मनाई जाती है :- दोस्तों  मुहर्रम  इस्लामिक बर्ष जिसे  हिजरी कहते हैं का पहला महीना माना जाता है !हिजरी महीने कि शुरूआत इसी महने से होती है !मुहर्रम को मुसल्मानो के चार पवित्र  महीनों से एक माना जाता है !चार महीनो6 से दो मुहर्रम से पहले आते हैं  जीकादा और जिल्ल्हज्ज ! अल्लाह के रसूल हजरत मुहम्म्द ने इसे अल्लाह का महीना भी कहा है !इस समय रखे गए रोजे रमजान में रखे रोजों हे बाद सबसे उत्तम माने जाते हैं ! हजरत मुहम्मद के साथी इबनो अब्बास ने कहा था कि मुहर्रम कि 09 तारीख को जो रोजा रखता है उस के 02 सालों के पाप माफ हो जाते हैं !मुहर्रम में रखा गाया रोजा 30 रोजों के बराबर माना जाता है ! मुहर्रम का 10 वां दिन :- मुहर्रम के दसवं दिन बहुत ही महत्व रखता है !इस दिन इराक में स्थित कर्बला नाम कि जगह में एक भयंकर युद्ध हुआ

General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास | National Engineer's Day

चित्र
General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास |  National Engineer's Day दोस्तो मेरे बलॉग के इस स्कंध में आप पाएँगे सामान्य ज्ञान , General Knowledge उन दिनों के बारे में जो आप मनाते हैं , Day's Observance   उन दिनों के बारे में जिन्हें पूरा विश्व मनाता है | जाने आज के दिन का इतिहास | राष्ट्रीय अभियंता दिवस हिन्दी में भारत हर साल 15 सितंबर को राष्ट्रीय अभियंता दिवस के रूप में मनाता है। यह दिन मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया के योगदान की सराहना करने के लिए मनाया जाता है। भारत रत्न पुरस्कार विजेता। उनका जन्म 15 सितंबर, 1861 को कर्नाटक के मुद्दनहली नामक गाँव में हुआ था। उन्हें 1915 में किंग जॉर्ज वी द्वारा ब्रिटिश भारतीय साम्राज्य के कमांडर के रूप में 'नाइट' से सम्मानित किया गया था। उन्होंने 1955 में भारत रत्न प्राप्त किया था। वे लंदन इंस्टीट्यूशन ऑफ सिविल इंजीनियर्स के सदस्य बने, इसके बाद उन्हें भारतीय संस्थान द्वारा फेलोशिप से सम्मानित किया गया। विज्ञान (IISC) बैंगलोर। उन्होंने कई नदी बांधों, पुलों का सफलतापूर्वक डिजाइन और निर्माण किया था और सिंचाई और पेयज

General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास |गणेश चतुर्थी के बारे में रोचक बातें

चित्र
General Knowledge | Day's Observance | आज के दिन का इतिहास दोस्तो मेरे बलॉग के इस स्कंध में आप पाएँगे सामान्य ज्ञान , General Knowledge उन दिनों के बारे में जो आप मनाते हैं , Day's Observance   उन दिनों के बारे में जिन्हें पूरा विश्व मनाता है | जाने आज के दिन का इतिहास | गणेश चतुर्थी के बारे में रोचक बातें  हिन्दु धर्म के अनुसार हर माह की अमावस्या के बाद चतुर्थी को विनायक चतुर्थी और पूर्णिमा के बाद कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी आती हैं। विनायक चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के नाम से पुकारा जाता है। पुराणों के अनुसार कहा जाता है कि शुक्ल पक्ष की चतुर्थि तिथि के दिन भगवान गणपति जी का जन्म हुआ था। इसलिये चतुर्थी के दिन भगवान गणपति जी का जन्मोत्सव मनाया जाता है। विशेष कर यह पर्व भाद्रपद माह की शुक्ल चतुर्थी को भारतवर्ष में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है।बहुत समय पहले यह पर्व केवल कुछ क्षेत्रों तक ही सीमित था ,पर अब यह पूरे भारत वर्ष मे हर्ष के साथ मनाया जाता है | इस दिन लोग अपनी पूजा वेदी पर गणेश जी कि प्रतिमा स्थापित कर दस दिनों तक उस की पूजा करते हैं |